ओवैसी की पार्टी AIMIM की बिहार विधानसभा में धमाकेदार एंट्री, झोली में किशनगंज सीट

0
721

बिहार विधानसभा उपचुनाव में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को शानदार जीत मिली है. AIMIM उम्मीदवार कमरुल होदा ने बिहार की किशनगंज विधानसभा सीट जीत ली है.

बीजेपी ने किशनगंज से स्वीटी सिंह को मैदान में उतारा था. यहां पर बीजेपी को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा था. लेकिन AIMIM उम्मीदवार ने जीत हासिल करके राजनीतिक पंडितों को चौंका दिया है.
‘वंशवाद के खिलाफ है ये जनादेश’
AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमान ने इस जीत को पार्टी की लगातार मेहनत का नतीजा बताया है. उन्होंने कहा कि ये जनादेश वंशवाद के खिलाफ है. हम इस जनादेश के मिलने के बाद लगातार सीमांचल में काम करेंगे. जो वादे किए हैं उन्हें पूरा करेंगे.

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में मोदी लहर के बावजूद AIMIM ने किशनगंज लोकसभा क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन किया था. पार्टी उम्मीदवार ने कड़ी टक्कर दी थी. AIMIM अब आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र के बाद बिहार विधानसभा में भी एंट्री करने जा रही है.

कांग्रेस के पास थी किशनगंज सीट
किशनगंज विधानसभा सीट कांग्रेस के लिए काफी अहम बताई जा रही थी. चूंकि यह सीट पहले कांग्रेस के पास ही थी, इसलिए यहां का चुनाव उसकी प्रतिष्ठा का सवाल बन गया था. कांग्रेस उम्मीदवार सईदा बानु तीसरे नंबर पर खिसक गए हैं.

17वें राउंड की गिनती के बाद कांग्रेस उम्मीदवार सईदा बानु को 23127 वोट मिले थे. भाजपी उम्मीदवार स्वीटी सिंह के खाते में 48483 वोट आए हैं. वहीं, एआईएमआईएम उम्मीदवार कमरुल होदा को 64655 वोट मिले हैं. निर्दलीय उम्मीदवार इमरान को 4957 मत पड़े हैं.

बिहार में इन सीटों पर हुए उपचुनाव
मालूम हो कि समस्तीपुर लोकसभा और विधानसभा की पांच सीटों- किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर के मतदाताओं ने 21 अक्टूबर को मतदान किया था.

इस उपचुनाव को अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है. इस उपचुनाव में जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के तेजस्वी यादव की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here