मप्र के नए भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा का छत्तीसगढ़ से पुराना नाता

0
40

मध्यप्रदेश भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए विष्णुदत्त शर्मा का छत्तीसगढ़ से भी करीबी नाता है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में काम करने के दौरान वे लंबे समय तक छत्तीसगढ़ से जुड़े रहे। मध्यक्षेत्र (मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़) में संगठन की जिम्मेदारी मिलने के बाद उन्होंने अपने पहले राजनीतिक कार्यक्रम की शुस्र्आत रतनपुर (बिलासपुर) स्थित महामाया मंदिर से की थी। विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे प्रदेश भाजपा के नेताओं के अनुसार शर्मा वह 1986 से ही विद्यार्थी परिषद् में सक्रिय हैं। 1993-94 में उन्हें मध्य भारत का प्रदेश संगठन मंत्री बनाया गया था। 2007-2014 के बीच उन्होंने मध्यक्षेत्र (मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़) के क्षेत्रीय संगठन मंत्री का कार्यभार संभाला था। इस दौरान वे सरगुजा से लेकर बस्तर तक कई दौरे किए। यहां के संगठन की गतिविधियों से भी वे करीब से जुड़े रहे हैं। मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद की दौड़ में कई वरिष्ठ नेताओं का नाम चल रहा था। दरअसल भाजपा चाहती थी कि इस बार वे ब्राह्मण और युवा चेहरे को प्रदेश अध्यक्ष बनाए। इसमें नरोत्तम मिश्रा भी शामिल थे, लेकिन आखिरी समय में विरोध के चलते उनका नाम बाहर हो गया। इसके बाद वीडी शर्मा का नाम सामने आया जिस पर सभी ने अपनी सहमति जाहिर की, संघ का साथ उन्हें पहले से मिला हुआ था। भाजपा नेताओं का मानना है कि अब मध्य प्रदेश में भाजपा के युवा नेतृत्व को बढ़ावा मिलेगा। युवा चेहरे विष्णु दत्त शर्मा के मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनाए जाने के बाद एक सवाल यह भी उठ रहा है कि पार्टी में ज्यादातर नेता उनसें वरिष्ठ हैं, ऐसे में वे किस तरह उन्हें अपनी बात मानने के लिए राजी करेंगे। इस मामले में वरिष्ठ नेता प्रभात झा का कहना था कि भाजपा में अध्यक्ष का पद सबसे ऊंचा होता है। उस पर कोई भी बैठा हो, हम सभी उसकी बात मानते हैं। यह पहली बार नहीं है, राकेश सिंह से भी कई वरिष्ठ नेता पार्टी में है, लेकिन अध्यक्ष होने के नाते वे उनकी बात हमेशा मानते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here