कोरोना वायरस का बदला

0
73

कोरोना वायरस का रूप लगातार बदल रहा है। इसलिए आईसीएमआर की गाइड लाइन में भी बार-बार बदलाव किए जा रहे हैं। नई गाइड लाइन के बाद कोरोना पॉजिटिव मरीज को दस दिन भर्ती रखने के बाद बिना जांच कराए डिस्चार्ज किया जा रहा है। जबकि रविवार को आई रिपोर्ट में 14 दिन क्वारंटाइन रह चुका युवक पॉजिटिव पाया गया है।
वहीं एक युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, अब उसकी दोनों सालियां भी संक्रमित पाई गई है। जबकि पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की गंभीर लापरवाही भी सामने आई है। कोरोना पॉजिटिव माता-पिता के साथ स्वस्थ्य बच्चों को रखने से वह भी संक्रमित हो रहे हैं। हाल ही में ऐसे दो बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
आईसीएमआर गाइड लाइन जरूर जारी कर रहा है, लेकिन ग्वालियर में स्वास्थ्य विभाग इसे मनमर्जी के अनुसार इस्तेमाल कर रहा है। दूसरे राज्य या जिलों से माता-पिता के साथ आने वाले बच्चों की कभी सैंपलिंग कराई जाती है तो कभी अस्पताल से वापस लौटा दिया जाता है। इसी प्रकार मरीजों को दस दिन में बिना जांच डिस्चार्ज किया जा रहा है। जबकि दो मरीजों की घर पहुंचने के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस बार तो 14 दिन की क्वारंटाइन अवधि पूरी कर चुका मरीज संक्रमित पाया गया है। ऐसे में कोरोना वायरस का बदलता रूप अब स्वास्थ्य विभाग के लिए बड़ी मुसीबत बनता जा रहा है। 3 मरीज हुए डिस्चार्जः-पान सिंह, डोली एवं धर्मवीर को रविवार को सुपर स्पेशियलिटी से डिस्चार्ज कर दिया गया है। यह तीनों भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। तीनों का कहना है कि जब कोरोना की बीमारी का पता चला तो काफी डर गए थे। मगर सामान्य दवाओं से ही ठीक होने के बाद काफी राहत मिल रही है। मुरार ब्लॉक के गुर्री गांव निवासी 24 वर्षीय युवक 15 दिन पहले सोलापुर से 20 लोगों के साथ ग्वालियर आया था। तब से वह जैन छात्रावास स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रह रहा था। क्वारंटाइन की अवधि पूरी होने के बाद बीते रोज उसे डिस्चार्ज कर दिया गया था। जबकि रविवार को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। घोसीपुरा निवासी 63 वर्षीय महिला अपने 8 परिवार के सदस्यों के साथ मुंबई से ग्वालियर आई थी। महिला 16 मई को पॉजिटिव पाई गई थी। जबकि 4 बच्चों सहित 7 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। स्वास्थ्य विभाग ने 22 मई को दोबारा सैंपल लिए तो 32 वर्षीय बेटी एवं 40 वर्षीय बहू संक्रमित निकली। बेटी को उसकी 1 साल की बेटी के साथ ही अस्पताल में रखा गया था। रविवार को आई रिपोर्ट में बच्ची भी पॉजिटिव पाई गई है। छतरपुर निवासी 38 वर्षीय युवक की पत्नी मार्च माह से दिल्ली में अपनी बहनों के यहां रह रही थी। युवक जब दिल्ली लेने पहुंचा तो पत्नी के साथ सालियां भी साथ में आ गईं। ग्वालियर में इनको क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया। 21 मई को आई रिपोर्ट में युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया। पत्नी एवं सालियों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। अब रविवार को आई रिपोर्ट में 20 एवं 22 वर्षीय दोनों सालियां भी पॉजिटिव पाई गई हैं।
बेहट निवासी युवक अपनी पत्नी एवं तीन बच्चों के साथ 18 मई को अहमदाबाद से ग्वालियर आया था। सभी को बेहट की धर्मशाला में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। पति पत्नी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जबकि अस्पताल प्रबंधन ने तीनों बच्चों का सैंपल लेने से इंकार कर दिया था। अब जब शुक्रवार को सैंपलिंग हुई तो शनिवार को 5 साल के बच्चे की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ऐसे में परिजनों को आशंका है कि उनके साथ रहने से बच्चा संक्रमित हुआ है। कांटेक्ट एवं ट्रेवल हिस्ट्रीः-परिवार के आठ लोग मुंबई से आए थे। जिसमें से 3 पॉजिटिव पाए गए थे। पहली रिपोर्ट में कोई बच्चा पॉजिटिव नहीं पाया गया था। अब दूसरी रिपोर्ट में 4 संक्रमित पाए गए हैं। इनमें 18 वर्षीय युवक एवं 5 वर्षीय बच्ची की कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। मगर यह लोग कोरोना पॉजिटिव मरीज के साथ एक छत के नीचे जरूर रहे हैं। ट्रेवल हिस्ट्रीः-बच्चा अपने माता पिता के साथ 18 मई को अहमदाबाद से ग्वालियर पहुंचा था। हाइवे पर ट्रक से उतरने के बाद पैदल ही गांव पहुंचे। यहां पर खेत पर ही रहे थे और 19 मई को जांच कराने जिला अस्पताल मुरार पहुंचे। मगर इनको लौटा दिया गया। 22 मई को टीम इनके खेत पर पहुंची और वहीं से सैंपल लिया गया। जिसमें बच्चा पॉजिटिव पाया गया है, बाकी की रिपोर्ट निगेटिव आई है।
ट्रेवल हिस्ट्रीः-महिला अपने पति एवं दो बच्चों के साथ गाजियाबाद से 16 मई को ग्वालियर पहुंची थी। ऑटो के जरिए गांव पहुंची और यहां खेत पर पूरा परिवार रहा था। 22 मई को इनकी जांच हुई, जिसमें महिला पॉजिटिव पाई गई है। ट्रेवल हिस्ट्रीः-मरीज अपने 20 साथियों के साथ 15 दिन पहले ग्वालियर पहुंचा था। जैन छात्रावास स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रहने के बाद बीते रोज डिस्चार्ज किया गया था। रविवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया है। ट्रेवल हिस्ट्रीः-दोनों बहने अपनी बहन एवं जीजा के साथ दिल्ली से ग्वालियर पहुंची थी। जीजा की रिपोर्ट 21 मई को पॉजिटिव आई थी। अब सालियां भी संक्रमित पाई गई हैं। इनको भी अस्पताल पहुंचा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here