भोपाल में , मचाया आतंक, शहरवासी दहशत में

0
127

देश के विभिन्न हिस्सों में पेड़-पौधों को चट कररहा टिड्डी दल रविवार को भोपाल शहर व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में घुस गया। शाम करीब चार से शाम 6 बजे तक खजूरीकलां, अवधपुरी, बरुखेड़ा पठानी, कटारा हिल्स, होशंगाबाद रोड, दानिश नगर, मिसरोद और कोलार में इनका आतंक रहा। दल पहले खेतों में पहुंचा, जहां से किसानों ने ताली बजाकर भगाया तो कॉलोनियों में घुस गया। शहरवासी दहशत में आ गए और थालियां बजाकर भगाया। लाखों टिड्डियों का दल भोपाल के आसपास कटारा हिल्स, हलाली डैम, कोलार क्षेत्रों से लगे खेतों व जंगलों में रुका है। भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने कहा कि टिड्डी दल ने दोपहर बाद विदिशा जिले की तरफ से भोपाल शहर में प्रवेश किया। अभी इन्होंने बहुत ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाया है। इन पर नजर रखी जा रही है। किसी का नुकसान नहीं होने देंगे। इससे पहले राजस्थान से आए टिड्डी दल ने मप्र के और जिलों को भी प्रभावित किया। मालवा व ग्वालियर अंचल में फसलें व पेड़-पौधों की पत्तियां चट करने के बाद इसने सीहोर, होशंगाबाद व छतरपुर व आसपास के जिलों में हमला बोला। वहीं, रायसेन में पहुंचे दल के बाद पटाखे चलाए, ढोल पीटा व कीटनाशक छिड़का गया। उधर छतरपुर में जंगली पौधे, फसलें चट कर गईं टिड्डियां। चित्रकूट व बांदा में दवा छिड़काव के बाद भागे टिड्डी दल ने महोबा का रुख कर लिया। एक वर्ग किलोमीटर दायरे में फैला टिड्डी दल रविवार को कबरई में देखा गया। हालांकि दोपहर हुई बरसात ने टिड्डी दल के उड़ने की रफ्तार रोक दी। कृषि विभाग ने कमलखेड़ा में दवा छिड़काव कर लाखों टिड्डियों के मारे जाने का अनुमान जताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here