मोदी सरकार नागरिकों की सहायता के लिए प्रतिबद्ध : अमित शाह

0
25

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल शनिवार की शाम को राधा स्‍वामी ब्‍यास में बने कोविड सेंटर पहुंच यहां के हालात का जायजा लिया। यहां पर देश के सबसे बड़ा कोविड अस्‍पताल बन रहा है। यहां पर 10 हजार मरीजों के रहने की सुविधा होगी। कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए फिलहाल यहां पर दो हजार बेड तैयार हो चुके हैं। बाकी बेड को भी जल्‍द तैयार किया जा रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि केंद्र की मोदी सरकार नागरिकों की हर संभव सहायता के लिए प्रतिबद्ध है। कोरोना से जंग में केंद्र सरकार दिल्ली के साथ खड़ी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को राधा स्वामी सत्संग ब्यास के भाटी माइंस स्थित सत्संग घर में बन रहे देश के सबसे बड़े सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर व हॉस्पिटल का दौरा किया। इस दौरान यहां चल रही तैयारियों की समीक्षा की और व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण करने के बाद शाह ने ट्वीट किया ‘मैं राधास्वामी सत्संग ब्यास और उन लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने इस सेंटर को बनाने में मदद की। दस हजार बेड का यह सेंटर दिल्ली के लोगों को बड़ी राहत देगा।’ वहीं दूसरे ट्वीट में कहा कि ‘मैं अपने आइटीबीपी के साहसी अधिकारियों और कर्मियों की सराहना करता हूं, जो इस कोविड केयर सेंटर का संचालन कर रहे हैं। राष्ट्र और दिल्ली के लोगों की सेवा करने की उनकी प्रतिबद्धता अद्वितीय है।’ वहीं दौरे के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट किया कि ‘इस मुसीबत की घड़ी में दिल्ली को कोरोना से बचाने के लिए मैने सबसे सहयोग मांगा और सबने बढ़-चढ़कर सहयोग किया। केंद्र सरकार और राधा स्वामी सत्संग ब्यास के सहयोग से दिल्ली वालों के लिए इतना बड़ा कोरोना सेंटर बन गया है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी भी इस दौरान मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि ईश्वर सभी को स्वस्थ रखें और यहां कम से कम लोगों को आने की जरूरत पड़े। इस दौरान दक्षिणी जिले के डीएम डॉ. बीएम मिश्रा और महरौली की एसडीएम सोनालिका जिवानी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। इस कोविड केयर सेंटर में शुक्रवार से दो हजार बेड बनकर तैयार हो गए हैं और आइटीबीपी ने इन्हें शुरू कर दिया है। बता दें कि दिल्‍ली में लगातार मरीजों की संख्‍या बढ़ती जा रही है ऐसे में सरकार को बढ़ते मरीजों के लिए बेड की चिंता हो रही है। इसी कड़ी में राधा स्‍वामी सत्‍संग ब्‍यास के मैदान में बने कोविड सेंटर में 10 हजार मरीजों के लिए बेड की व्‍यवस्‍था की गई है। कोविड -19 महामारी से निपटने के लिए दक्षिणी दिल्‍ली के भाटी माइंस में यह 10 हजार बेड का अस्‍पताल तैयार हो रहा है। यह अस्पताल राधा स्वामी सत्संग ब्यास में है। बता दें कि ब्यास का शेड पहले से तैयार था जहां सत्‍संग आदि कार्यक्रम पहले से होते थे। राधा स्वामी सत्संग ब्यास के प्रमुख बाबा गुरिंदर सिंह ढिल्लो ने डेढ़ माह पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने प्रस्ताव रखा था कि अभी कोरोना के कारण ब्यास में अनुयायियों का आना-जाना नहीं है। इस कारण यहां की जगह का कोरोना के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बाद यहां पर अस्पताल बनाने की प्रक्रिया शुरू की गई। यह अभी तक देश का सबसे बड़ा कोविड अस्‍पताल है। इसमें कोरोना के लक्षण वाले व बिना लक्षण वाले दोनों तरह के मरीजों का इलाज हो सकेगा।
अभी तक मिली ताजा जानकारी के अनुसार यह अस्‍पताल जुलाई के पहले सप्‍ताह से काम करना शुरू कर देगा। सीएम केजरीवाल और डिप्‍टी सीएम मनीष सिसोदिया यहां का लगातार दौरा कर रहे हैं। यहां पर भर्ती होने वाले मरीजों के लिए चाय से लेकर डिनर तक की व्‍यवस्‍था रहेगी। यहां पर सुबह चाय मिलेगी और खाने-पीने तक की पूरी व्‍यवस्‍था होगी। फिलहाल दक्षिणी जिले के डीएम बृजमोहन मिश्रा के नेतृत्‍व में अस्‍पताल के निर्माण और देखरेख का काम चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here