अभी ठंड से राहत नहीं , मैदानी इलाकों में और गिरेगा तापमान

0
6

पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के बाद सर्दी फिर बढ़ गई है। कश्मीर में झीलें और झरने जमने लगे हैं। इधर, राजस्थान के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में लगातार 11वें दिन बर्फ जमी। आज तापमान 1 डिग्री के आस-पास बना हुआ है। आने वाले दिनों में मैदानी इलाकों में ठंडी हवाएं चलने से तापमान और गिर सकता है। वहीं उत्तराखंड में 27 दिसंबर को बारिश हो सकती है। देश की राजधानी दिल्ली कड़ाके की ठंड की चपेट में है। घना कोहरा इसके असर को और बढ़ा रहा है। सितम ये है कि नए साल पर भी इससे निजात मिलती नहीं दिख रही। पहली जनवरी को भी न्यूनतम तापमान 2 से 3 डिग्री के बीच रहने का पूर्वानुमान है। दिल्ली में सर्दी के साथ कोहरे का कोहराम भी जारी है। दरअसल दिल्ली में तापमान लगातार गिर रहा है. शुक्रवार की सुबह का तापमान 3.7 डिग्री दर्ज किया गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में, न्यूनतम तापमान लगातार दूसरे दिन पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। मौसम विभाग के मुताबिक 27 दिसंबर तक तापमान के ऐसे ही रहने की उम्मीद है। वहीं, नए साल पर यानी 31 दिसंबर और एक जनवरी 2021 को तापमान 2 से 3 डिग्री रहेगा, यानी कड़ाके की ठंड 2021 का स्वागत करेगी। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में शीतलहर चलने से ठंड का प्रकोप बढ़ गया है. प्रदेश के मैदानी इलाकों में सर्दी सारे रिकॉर्ड तोड़ने को आतुर है. प्रयागराज में ठंड का कहर जारी है. शहर प्रशासन जगह-जगह अलाव की व्यवस्था कर रहा है ताकि शीतलहर से किसी की जान पर संकट ना आए. दिल्ली से ज्यादा ठंड प्रयागराज में होने की एक वजह संगम भी है. ये शहर दो तरफ से नदियों से घिरा है और मैदानी इलाकों से चलने वाली शीतलहर के कहर को नदियों का ठंडा पानी बढ़ा देता है। विभाग के अनुसार प्रदेश के सभी जिलों में रात के तापमान में कोई खास बदलाव नहीं होने वाला है। मौसम विभाग ने राज्य में आम तौर पर मौसम शुष्क रहने और घना कोहरा छाए रहने का अनुमान जताया है। हिमाचल के सभी जिलों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पहाड़ों पर बर्फबारी के बाद ठिठुरन भी बढ़ गई है। हिमाचल प्रदेश के केलांग, कल्पा और मंडी में तापमान शून्य से नीचे चला गया है। मौसम केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि आदिवासी जिला लाहौल-स्पीति का प्रशासनिक केंद्र केलांग राज्य में सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से 8.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि किन्नौर जिले के कल्पा में शून्य से 2.2 कम और मंडी में 1 डिग्री सेल्सियस कम न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। मनाली, डलहौजी और कुफरी में न्यूनतम तापमान क्रमश: शून्य, 4.3 और 4.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि शिमला में न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम केंद्र ने 27 और 28 दिसंबर को राज्य के अलग-अलग स्थानों पर बारिश और बर्फबारी का अनुमान जताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here