Monday, November 29, 2021
spot_img
HomeUncategorizedप्रेस विज्ञप्ति

प्रेस विज्ञप्ति

जिला जन-सम्पर्क कार्यालय, सिमडेगा।
सिमडेगा:- उपायुक्त सिमडेगा श्री सुशांत गौरव की अध्यक्षता में जिला एवं प्रखण्ड के अधिकारियों संग जिला विकास समन्वय समिति की बैठक का आयोजन हुआ। प्रखण्ड की परिधि प्रखण्ड प्रशासन को सुरक्षित एवं सुव्यस्थित रखने के निरन्तर दायित्व को दर्शता है। उन्होने कहा कि प्रखण्ड स्तर पर कार्य ऐसा हो कि प्रखण्ड के कार्य हेतु आम-जन को जिला न आना पड़े। सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी इसे सुनिश्चित करें। टीम बेहतर कार्य करें, किसी दूसरे माध्यम से सूचना का प्रसार न हो। उन्होने कोविड-19 की समीक्षा के क्रम में लक्ष्य के विरूद्ध कई प्रखण्डों में टीकाकरण कार्य में कमी पाई गई। उपायुक्त ने कहा कि टीकाकरण कार्य में पुरी तरह प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का कमान देने का निर्देश दिया। अस्पताल प्रबंधन समिति की बैठक करें, प्रत्येक ग्राम-पंचायत का आकंड़ा पर समीक्षा करें। उन्होने कहा कि जिले में मेडिकल टीम सभी प्रखण्डों में टीकाकरण कार्य को लेकर क्रियाशील है, जिस प्रखण्ड में टीम की कमी है, वे रूठ वाईज ग्राम-टोला वाईज में टीकाकरण कराने वाले लाभार्थी को प्रतिदिन मोबाईल वैन से टैग करते हुए टीकाकरण करायें, साथ हीं जहां अधिक लाभार्थी की संख्या है, वैसे क्षेत्र में कैम्प लगाकर टीकाकरण करने का निर्देश दिया। उन्होने कहा कि 18, 45 एवं 60 प्लस के लोगों को जल्द टीका दिलायें। ग्रामीण रूलर टास्क फोर्स की बैठक करें, गांव – टोला वाईज आकंड़ा के अनुसार समीक्षा करें, कार्य दायित्व को समझे एवं लक्ष्य निर्धारण करते हुए सभी प्रखण्ड को टीकाकरण युक्त प्रखण्ड बनायें। विभिन्न विभागों में रेन्डमली जांच करते हुए कर्मी ने टीका लिया है कि नहीं का जांच करें, नहीं लिये पाये जाने पर वेतन स्थगित करने का निर्देश दिया। 64062 लाभार्थी को सितम्बर माह में दूसरा डोज दिलायें। बैंक, हाट-बाजार में कैम्प लगाकर टीका करें, जहां व्यक्ति है वहां जाकर करें, लेकिन जल्द शतप्रतिशत टीकाकरण का कार्य पूर्ण करें। पीडीएस डीलर प्रतिदिन 10 व्यक्ति को टीका दिलायेंगे। वैक्सीन वेस्टेज की समीक्षा के क्रम में एक-दो प्रखण्डों में 1 प्रतिशत से अधिक वेस्टेज पाई गए, उपायुक्त ने कहा कि दिये गए कोविड वाईल का वेस्टेज न हो। संख्या के अनुरूप हीं वाईल का प्रयोग करें। जिससे की बर्बादी न हो। पहले रूठ चार्ट के अनुरूप संख्या का मिलान करते हुए वाईल की उपलब्धता सुनिश्चित करें। दो लाख लोगों को सितम्बर माह के अन्त तक एनिमिया जांच करने का लक्ष्य है। कार्य प्रगति की स्थिति को देखते हुए उपायुक्त ने कहा कि प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एनिमिया टेस्टींग करायेंगे एवं अंचलाधिकारी डाटा इन्ट्री का कार्य पूर्ण करायेंगे। अक्टुबर माह में दो लाख लोगों के एनिमिया जांच के एनालाईसिस रिर्पोट के अनुसार चिन्हित क्षेत्र में राशि देते हुए एनिमिया मुक्त बनाया जायेगा एवं क्षेत्र में एनिमिया किसी को न हो, इसके प्रति जागरूकता अभियान भी चलाया जायेगा। विद्यालय के हर एक बच्चे का एनिमिया जांच करें।
उपायुक्त ने कहा कि जिला स्तर से प्रखण्ड स्तर की समीक्षा की जाती है, उसी प्रकार प्रखण्ड विकास पदाधिकारी प्रखण्ड से ग्राम-पंचायत तक के कार्याें की अद्यतन प्रतिवेदन के आधार पर प्रखण्ड पदाधिकारी, कर्मियों संग बैठक करें, जिस कार्य में कमी एवं त्रुटि पाई जाती है, उस पर तत्काल कार्रवाई करें। लम्बे समय तक लंबित मामले को निपटारा जल्द करें।
पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की समीक्षा के क्रम में कार्यपालक अभियंता पीएचडी को सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को प्रखण्डवार जलमिनार की सूची समर्पित करने का निर्देश दिया। साथ हीं सूची पंचायत भवन में चिपकाने का निर्देश दिया। 15वें वित्त आयोग की राशि से भी जलमिनार का निर्माण किया गया है, जिसके खराब होने पर मुखिया एवं एफएलडब्लू के द्वारा मरम्मति कराई जानी है। उन्होने निर्मित जलमिनार की जांच करने का निर्देश दिया, गुणवता में कमी पाये जाने पर कार्रवाई करने की बात कही। आये दिन पेयजल की समस्या समाचार पत्रों में प्रदर्शित देखी गई है।
विद्युत विभाग की समीक्षा के क्रम में कहा कि सिमडेगा जिला में खराब ट्रान्सफर्मर को मरम्मती करने का सेन्टर खुल चुका है, उन्होने कार्यपालक अभियंता को खराब ट्रान्सफर्मर की मरम्मती रिपेयर सेन्टर से समय अन्तराल में कराते हुए क्षेत्र में अधिष्ठापित करने का निर्देश दिया। एनएच की समीक्षा के क्रम में अभियंता ने बताया कि कोलेबिरा से घाट बाजार 58 किलो मीटर तक 10 मिटर का सड़क निर्माण होगा। उपायुक्त ने निर्माण कार्य को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दियें।
मनरेगा योजना के तहत् प्रखण्ड के आकंड़ो पर विस्तृत समीक्षा की गई। पुराने लंबित योजनाओं को सितम्बर माह के अन्त तक पूर्ण करने का निर्देश दिया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के आवास निर्माण कार्य को जल्द पूर्ण करने का निर्देश दिया, समय पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किस्त की राशि का हस्तान्तरण लाभुक के खाते में हस्तान्तरित करने का निर्देश दिया। तहसिल कचहरी के माध्यम से योजनाओं एवं कार्यों के निष्पादन के बारे में ग्रामीणों को जागरूक करें। अपर समाहर्ता को तहसिल कचहरी का सप्ताहिक प्रतिवेदन प्राप्त करने का निर्देश दिया। बैठक में उपविकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सिविल सर्जन, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, जिला स्तरीय पदाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी उपस्थित थें।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments