Monday, November 29, 2021
spot_img
HomeUncategorizedरत्न-आभूषण

रत्न-आभूषण

इस वर्ष अप्रैल से जुलाई के दौरान रत्न और आभूषण निर्यात 6.04 फीसद बढ़कर 12.5 अरब डालर (वर्तमान भाव पर 92,500 करोड़ रुपये से अधिक) हो गया है। वित्त वर्ष 2019-20 की समान अवधि के दौरान यह 11.8 अरब डालर था। अमेरिका, चीन और हांगकांग जैसे बाजारों में तेजी के चलते निर्यात में यह वृद्धि दिखाई दी है। रत्न और आभूषण उद्योग के संगठन जीजेईपीसी ने सोमवार को कहा कि अकेले जुलाई में निर्यात 18 फीसद बढ़कर 3.36 अरब डालर यानी लगभग 25,000 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। 2020-21 की अप्रैल से जुलाई अवधि में रत्न और आभूषणों का निर्यात 3.87 अरब डालर रहा था। संगठन ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 के निर्यात के आंकड़ों की तुलना 2019-20 से इसलिए की गई क्योंकि महामारी से प्रभावित पिछले वर्ष की तुलना से निर्यात की सही तस्वीर दिखाई नहीं देती है।जीजेईपीसी के चेयरमैन कोलिन शाह ने कहा कि वैश्विक बाजार में लगातार सुधार, उपभोक्ताओं द्वारा खर्च में हुई वृद्धि और आगामी त्योहारी सीजन को देखते हुए आने वाले महीनों में निर्यात और बढ़ेगा। चालू वित्त वर्ष के शुरुआती चार महीनों के कटिंग और पालिश किए गए हीरे के निर्यात में 27 फीसद की वृद्धि हुई और यह 8.52 अरब डालर के स्तर पर पहुंच गया है। जबकि 2019-20 की समान अवधि में यह 6.7 अरब डालर था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments